लोकतंत्र

मुद्दा ये था हम करें तो करें क्या

जाये तो जाये कहा

सवाल ये बन गया

आपके पास option नहीं है

Advertisements

हर आरम्भ का अंत मै ही हु औऱ हर अंत का आरम्भ भी मैं,
और हर अंत सदैव मेरा ही आरम्भ होगा !!

श्री भगवतये नमः🌺🌺🌺